06 जून, 2013

जानिए भगवान राम नीले और कृष्ण काले क्यों है....

शास्त्रों में यह कहा गया कि भगवान श्रीराम नीले रंग के थे और श्रीकृष्ण सावले यानि की काले थे| शास्त्रों में यह भी बताया गया है कि यह दोनों अवतार तीनों लोकों के स्वामी भगवान विष्णु के हैं|

ऐसा सुनकर मन में एक सवाल जरुर उठता है वह है यह कि व्यक्ति कला तो होता है पर नीले रंग का व्यक्ति तो किसी ने नहीं देखा? आखिर इन भगवानों के रंग-रूप के पीछे क्या रहस्य है।

आपको बता दें कि भगवान राम के नीले वर्ण और कृष्ण के काले रंग के पीछे एक दार्शनिक रहस्य है। भगवानों का यह रंग उनके व्यक्तित्व को दर्शाते हैं। दरअसल इसके पीछे भाव है कि भगवान का व्यक्तित्व अनंत है। उसकी कोई सीमा नहीं है, वे अनंत है। ये अनंतता का भाव हमें आकाश से मिलता है। आकाश की कोई सीमा नहीं है। वह अंतहीन है। राम और कृष्ण के रंग इसी आकाश की अनंतता के प्रतीक हैं। राम का जन्म दिन में हुआ था। दिन के समय का आकाश का रंग नीला होता है।

इसी तरह कृष्ण का जन्म आधी रात के समय हुआ था और रात के समय आकाश का रंग काला प्रतीत होता है। दोनों ही परिस्थितियों में भगवान को हमारे ऋषि-मुनियों और विद्वानों ने आकाश के रंग से प्रतीकात्मक तरीके से दर्शाने के लिए है काले और नीले रंग का बताया है।

यही कारण है कि है कि भगवान श्रीराम के शरीर का रंग नीला और श्रीकृष्ण का रंग श्याम था|

कोई टिप्पणी नहीं: