20 सितंबर, 2014

वह चीखती चिल्लाती रही, प्रेत भगाने के नाम पर लुक्का बाबा उसके सिर के बाल पकड़कर पीटता रहा

बाराबंकी| उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से सटे बाराबंकी जिले में एक ढोंगी बाबा ने प्रेत बाधा के नाम पर एक महिला को अमानवीय तरीके से पीटना शुरू कर दिया| महिला चीखती चिल्लाती बचाने की गुहार करती रही लेकिन बाबा उसके सिर के बाल पकड़कर पीट-पीट कर प्रेत को भगाने का दावा करता रहा|अन्त में कथित ओझा ने उस महिला के बाल उखाड़ना शुरू कर दिया| बाबा की पिटाई व बाल उखाड़ने की असहनीय पीड़ा से महिला बेहोश हो गई। बाद में ग्रामीणों के विरोध पर छुड़ाकर उसे हास्पिटल लाया गया। जहां पर उसकी गम्भीर हालत को देखते हुए ट्रॉमा सेन्टर रेफर कर दिया गया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार , रामसनेहीघाट के इटहुआ निवासी राजेन्द्र प्रसाद रावत के पिता मनीराम की मौत एक पखवाडा पूर्व हो जाने के बाद घर में गमी के माहौल के चलते राजेन्द्र की 28 वर्षीय पत्नी कमला देवी बीमार हो गई, कई दिनों तक इलाज कराने के बावजूद कोई फायदा न होने पर कुछ लोगों ने राजेन्द्र को गांव के बाहर काशीदास की समाधि पर रहकर कथित ओझाई करने वाले लुक्का बाबा उर्फ मनोज कुमार को दिखाने की सलाह दी। 

राजेन्द्र गुरुवार की शाम अपनी पत्नी कमलादेवी को लेकर समाधि स्थल पर पहुंचा जहां पर कथित लुक्का बाबा ने शाम को करीब 7 बजे पहले धूप बत्ती सुलगा कर पूजा पाठ शुरू किया उसके बाद उसने प्रेत भगाने के नाम पर उसकी पत्नी को अमानवीय तरीके से पीटना शुरू कर दिया महिला चीखती चिल्लाती बचाने की गुहार करती रही परन्तु बाबा उसके सिर के बाल पकड़कर पीट पीट कर प्रेत को भगाने का दावा करता रहा अन्त में कथित ओझा ने कमला के बाल उखाड़ना शुरू कर दिया बाबा की पिटाई व बाल उखाड़ने की असहनीय पीड़ा से महिला बेहोश हो गई। महिला के बेहोश होने के बाद कुछ ग्रामीणों ने बाबा की हरकतों का विरोध किया और उसे छुड़ाकर एक नर्सिंग होम ले गए| जहां पर उसकी गम्भीर हालत को देखते हुए ट्रॉमा सेन्टर रेफर कर दिया गया।

कोई टिप्पणी नहीं:

loading...