11 जुलाई, 2013

पति के सामने दबंगों ने लूट ली महिला की इज्ज़त!

मध्य प्रदेश में गुना जिले में मानवता को शर्मसार कर देने वाली घटना प्रकाश में आई है| यहां के बमोरी थाना क्षेत्र के हमीरपुर गांव के वनक्षेत्र में एक व्यक्ति को बंधक बनाकर उसी के सामने उसकी पत्नी के साथ दबंगों ने दुष्कर्म किया| पुलिस सूत्रों ने बताया कि राजस्थान के झालावाड़ जिले के निवासी एक दंपति यहां एक धार्मिक स्थल में दर्शन करने के बाद वापस लौट रहे थे। 

इसी दौरान हमीरपुर गांव के वनक्षेत्र में एक सुनसान स्थान पर दो मोटर साइकिल पर सवार चार बदमाशों ने उन्हें रोका और महिला के पति को बंधक बनाकर उसी के सामने एक युवक ने महिला के साथ बलात्कार किया और शिकायत न करने की धमकी देते हुए फरार हो गए। घटना के बाद पीड़ित दंपति की शिकायत के बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

आपको बता दें कि यह कोई पहला मामला नहीं है इससे पहले भी यहाँ एक ऐसा ही मामला प्रकाश में आया था| गत अप्रैल माह में प्रदेश की व्यावसायिक राजधानी इन्दौर में तलवार की नोक पर पति के सामने उसकी पत्नी की इज्जत लूट ली| इसके अलावा महिला से मारपीट भी की| घटना अन्नपूर्णा क्षेत्र के अहिल्या नगर की है जहाँ अलसुबह चार बजे दो युवकों ने यहां के एक निर्माणाधीन मकान का दरवाजा खटखटाया। इस मकान में काशीराम और उसकी पत्नी चौकीदारी करते हैं। घटना के वक्त दोनों सो रहे थे।

काशीराम ने जैसे ही दरवाजा खोला दोनों युवकों ने उसके गले पर तलवार अड़ा दी। फिर उसे अंदर कमरे में ले गए और पास ही पड़ी रस्सी से उसके हाथ बांध दिए। एक आरोपी ने काशीराम के गले पर तलवार रख दी और धमकाया कि शोर मचाया तो जान से मार देंगे। दोनों ने पति की हत्या की धमकी देते हुए काशीराम की पत्नी के साथ बारी-बारी से बलात्कार किया। महिला ने विरोध की कोशिश की तो आरोपियों ने उसके साथ मारपीट की और कमरे में से घसीटते हुए बाहर बरामदे तक ले गए। इसके बाद दोनों युवक वहां से भाग गए। दोनों के जाने के बाद तुरंत काशीराम बाहर निकलकर आया और शोर मचाने लगा| आसपास के अन्य मकानों में चौकीदारी करने वाले उसके रिश्तेदार बाहर आ गए। उन्होंने भाग रहे बदमाशों का पीछा किया और एक बदमाश को मौके पर ही पकड़ लिया। उसका नाम विनोद पिता संजय (22) निवासी सुदामा नगर झोपड़पट्टी है। लोगों ने उसकी जमकर पिटाई की। दूसरा आरोपी फरार हो गया| 

विनोद को लेकर लोग अन्नपूर्णा थाने पहुंचे और घटना के बारे में बताया। उसने फरार साथी का नाम सुनील बताया। उसकी तलाश में पुलिस ने दबिश भी दी, लेकिन वो नहीं मिला। विनोद और सुनील का पुराना आपराधिक रिकॉर्ड भी है। दोनों के खिलाफ अन्नपूर्णा थाने में चोरी और मारपीट के केस दर्ज हैं। 

वहीँ दूसरी अप्रैल माह में ही राजधानी भोपाल के रेलवे स्टेशन के पास बजरिया इलाके में पति को बंधक बनाकर उसकी पत्नी के साथ गैंगरेप करने वाले सातों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। भोपाल रेंज के पुलिस महानिरीक्षक उपेंद्र जैन ने बताया कि राजधानी के रेलवे स्टेशन के पास बजरिया इलाके में स्थित कोच फैक्ट्री के पास से 24 अप्रैल को पति अपने पत्नी के साथ साइकिल से जा रहा था। इस दौरान सात बदमाशों ने साइकिल को रोककर पति के साथ मारपीट कर उसको बंधक बना लिया और उसके सामने पत्नी के साथ गैंगरेप किया।

उन्होंने बताया कि महिला की शिकायत पर पुलिस ने सातों अज्ञात आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर उनकी सघनता के साथ तलाशी शुरू कर दी थी। जांच पड़ताल के दौरान सुबह पुलिसकर्मियों ने सातों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। बाद में पीड़ित महिला और उसके पति ने सातों आरोपियों की शिनाख्त की।

कोई टिप्पणी नहीं:

loading...