21 सितंबर, 2013

भारत का स्विट्ज़रलैंड है औली

अगर आप अपनी ज़िन्दगी में रोमांच पसंद करते हैं, तो अपने ही देश में एक ऐसी जगह है, जहां आपको स्विट्ज़रलैंड जैसा खूबसूरत और रूमानी माहौल मिल सकता है। उत्तराखंड के चमोली जिले में स्थित औली पर्यटक स्थल, जो किसी भी मायने में स्विट्ज़रलैंड से कम नहीं है। प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर औली भारत का एक प्रसिद्ध स्किन रिजोर्ट है। इसके चारों ओर धुंध के बादल, मीलों दूर तक जमी बर्फ की सफेद चादर, बड़े-बड़े पहाड़ देखकर आपको लगेगा जैसे आप स्विट्ज़रलैंड में आ गए हैं। जहां तक आपकी नज़र जाएगी बर्फीले पहाड़ों का यह खूबसूरत दृश्य और खाइयों की गहराई आपको रोमांच से भर देगी। 

5-7 किमी. में फैला यह छोटा-सा स्किन रिसोर्ट जोशीमठ से 16 किमी दूर स्थित है। जोशीमठ से औली तक जाने के दो सुलभ रस्ते हैं , एक तो सड़क का ओर दूसरा रोपवे (केबल) का, चार किलोमीटर लम्बे रोपवे से जाने पर इस जन्नत का नज़ारा ओर भी खूबसूरत लगता है। इस तीन किलोमीटर लंबा रोमांचकारी ढलान, जिसकी ऊंचाई 2519 मीटर से लेकर 3049 मीटर है | गढ़वाल मंडल विकास निगम द्वारा इसका रखरखाव किया जाता है। स्कीइंग के लिए मशहूर इस रिजोर्ट में स्कीइंग प्रशिक्षण भी दिया जाता है।

फिशिंग, स्कीइंग के लिए यह जगह एकदम परफेक्ट मानी जाती है। वैसे भी अगर चारों ओर बर्फ से ढके पहाड़ हो तो स्कीइंग किये बिना भला किसका मन मानेगा। दिसम्बर से मार्च तक यहां का मौसम सुहावना रहता है। जब यहाँ बर्फ गिरती है, तो यहाँ के वातावरण को और भी सुन्दर बना देती है । स्कीइंग के लिए यह समय बिलकुल परफेक्ट होता है। इसके आलावा यहां रॉक क्लाइम्बिंग, फॉरस्ट कैम्पिंग और हौर्स राइडिंग आदि भी की जाती है। यहां छुट्टियाँ मनाने के लिए टूरिस्टों की अच्छी-खासी भीड़ रोमांच का मज़ा लेने आती है।

भ्रमण स्थल :- औली में वैसे तो देखने लायल बहुत सी जगह हैं मगर दयारा बुग्याल, मुंडाली और मुनस्यारी कुछ खास स्थल है जो औली को और भी खूबसूरत बना देते है | 

1. दयारा बुग्याल :- यह जगह 3048 ऊंचाई पर स्थित एक चरागाह है, जहां की प्राकृतिक सुंदरता देखते ही बनती है। यहां स्कीइंग की बेहतर सुविधा उपलब्ध है। यहां से हिमालय का दृश्य भी दिखाई देता है| यह दृश्य इतना मार्मिक दिखाई देता है कि आप एकटक इस नजारे को देखते रह जाएंगे। यहां भाटवारी और स्थानीय घरों में ठहरने की व्यवस्था भी हो जाती है।

2. मुंडाली:- यह देहरादून से 129 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। हिमालय की बर्फ से ढंकी चोटियों और गहरी खाइयों का बेहद रोमांचक नजारा यहां से आसानी से देखा जा सकता है। स्कीइंग करने के लिए यहां पर अच्छा स्लोप है।

3. मुनस्यारी:- यह स्थल उत्तराखंड और नेपाल की सीमा से लगा हुआ है ,जो की 2135 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। यह स्थल मिलम, नामिक तथा रालिम ग्लेशियर के लिए आधार कैंप है। गढ़वाल और कुमांयु में औली तो मुख्य स्कीइंग स्थल है | इसके साथ ही आप पाएंगे की यहां और भी बहुत से विंटर स्पोर्ट प्लेसेज हैं। जैसे गढ़वाल में कुश कल्याण तथा उत्तरकाशी जिले में केदार कांठा,टिहरी गढ़वाल जिले में पनवाली और मत्या, चमोली में बेड़नी बुग्याल, कुमायूं के पिथौरागढ़ जिले में चिपलाकोट घाटी आदि। 

तो फिर अब इंतज़ार किस बात का है, उठिए और अपनी पैकिंग कर तैयार हो जाइये भारत के स्विट्जरलैंड की आबो-हवा में खो जाने के लिए। पैकिंग करते वक़्त औली के मौसम का खास ख्याल रखना बिल्कुल भी मत भूलियेगा और सर्दी के कपड़े अवश्य रख लीजियेगा ताकि आपके आनंद में कोई कमी न आये।

www.pardaphash.com

कोई टिप्पणी नहीं: