24 अक्तूबर, 2013

यूकेलिप्टस की पत्तियां बताती हैं जमीन में दबे सोने का राज

भारत में जहां एक संत के सपने के आधार पर जमीन में दबे सोने के खजाने की तलाश की जा रही है, वहीं आस्ट्रेलिया में कुछ पेड़ों की पत्तियां जमीन में दबे खजाने की पता बताती हैं। इन वृक्षों ने सदियों पुरानी उस कहावत को भी झुठला दिया है, जिसमें कहा गया है कि रुपया पेड़ों पर नहीं उगता। आस्ट्रेलिया के पश्चिमी हिस्से में कालगूर्ली क्षेत्र में युकेलिप्टस के कुछ ऐसे वृक्ष मिले हैं जिनकी पत्तियों में अत्यंत बारीक सोने के कण पाए गए।

आस्ट्रेलिया के एक समाचार पत्र 'द वेस्ट आस्ट्रेलियन' में बुधवार को प्रकाशित रपट के अनुसार, पश्चिमी आस्ट्रेलिया के कालगूर्ली क्षेत्र में यूकेलिप्टस की पत्तियां जमीन के भीतर दबे सोने का पता बताती हैं। समाचार पत्र के अनुसार इस क्षेत्र में जमीन के नीचे दबे सोने के कणों को ये वृक्ष अपनी जड़ों के जरिए पत्तियों एवं अन्य हिस्सों तक पहुंचा देते हैं।

इस प्रकार इस क्षेत्र में यदि किसी वृक्ष की पत्तियों में सोने के कण दिखाई देते हैं, तो समझ लिया जाता है कि वहां जमीन के नीचे सोने की खान होगी। सीएसआईआरओ के वैज्ञानिकों ने इसका पता लगाया और इससे संबंधित शोध पत्र विज्ञान शोध पत्रिका 'नेचर कम्यूनिकेशंस' के ताजा अंक में प्रकाशित हुआ है। शोध पत्र में मुख्य शोधकर्ता एवं भूरसायनविद मेल लिंटर ने कहा है, "सुनहरी पत्तियों से जमीन के नीचे सोने के अमूल्य खजाने का पता लग सकता है।"

लिंटन ने आगे कहा है, "इनमें से कुछ वृक्षों की जड़ें जमीन में बहुत गहराई तक गई हुई हैं, तथा हमारे लिए जमीन के भीतर दबे खजाने के लिए खिड़की की तरह काम करती हैं।" समाचार पत्र के अनुसार, इस शोध के बाद पारंपरिक तरीके से ड्रीलिंग द्वारा जमीन के अंदर सोने का पता लगाने की बजाय पत्तियों के परीक्षण द्वारा यह कार्य काफी किफायती हो जाएगा। इस तकनीक से सोने के अलावा जमीन में दबे अन्य धातुओं का भी पता लगाया जा सकता है।
www.pardaphash.com

कोई टिप्पणी नहीं: