19 सितंबर, 2015

केला ही नहीं उसके छिलके में भी होते हैं कमाल के गुण, जानिए तो सही

केला हर मौसम में सरलता से उपलब्ध होने वाला अतयंत पौष्टिक और स्वादिष्ट फल है| केले की गिनती हमारे देश के उत्तम फलों में होती है और मांगलिक कार्यों में भी विशेष स्थान दिया गया है। केला एक ऐसा फल है जिसे अमीर गरीब हर कोई खा सकता है| केले की सबसे ख़ास बात यह है कि इसके छिलके भी आपके लिए बहुत फायदेमंद है| छिलके की मदद से आप शरीर को भारी मात्रा में न्यूट्रियंट्स देने के साथ वज़न भी घटा सकते हैं।

एक अध्ययन में कहा गया है कि केले के छिलके में विटामिन-ए की मात्रा पाई जाती है, जो इम्यूनिटी को मज़बूत कर इंफेक्शन से लड़ने में मदद करता है। इसमें लुटीन नामक पदार्थ होता है, जो आंखों में मोतियाबिंद होने से रोकता है। इसके अलावा इसमें एंटी-ऑक्सीडेंटस होने के साथ विटामिन-बी, ख़ासतौर से विटामिन-बी-6 की मात्रा होती है।

इसमें घुलने वाले और न घुलने वाले फाइबर होते हैं, जो पाचन क्रिया के कार्य को धीरे कर, शरीर से कॉलेस्ट्रॉल को कम करते हैं। इन केले के छिलको को खाने में इस्तेमाल करने के लिए इसलिए बोला जाता है, क्योंकि इनमें पोटेशियम और मैग्नीशियम की मात्रा होती है, जो बल्ड प्रेशर को बनाए रखने में मदद करती है।

इसके अलावा हरे छिलके में ट्रिपटोफन नामक पदार्थ होता है, जो एक तरह का अमीनो एसिड है। यह रात को अच्छी नींद लेने के लिए लाभकारी है। कई अध्ययनों का तो यह भी मानना है कि छिलके में सेरोटोनिन नाम का पदार्थ होता है, जो डिप्रेशन पर काबू रख आपको खुश रखता है। इसके अलावा इसमें डोपामाइन होता है, जो दिल की धड़कन पर नियंत्रण रख गुर्दों में खून का प्रवाह बनाए रखता है।

रिसर्च के मुताबिक पीले छिलके में एंटी-कैंसर गुण होते हैं, जो व्हाइट बल्ड सेल्स को उत्पन्न करने में मदद करते हैं। अगर आप अपने आहार में केले का हरा छिलका शामिल करते हैं, तो इसे मुलायम करने के लिए 10 मिनट उबालें। इसके बाद इस्तेमाल करें।

केले के छिलके को पीसकर उसका पेस्ट 15 मिनट के लिये सिर पर लगाने से सिरदर्द दूर हो जाता है। दरअसल सिर दर्द खून की धमनियों में पैदा होने वाले तनाव की वजह से होता है, और केले के छिलके में मौजूद मैगनीशियम धमनियों में जाकर सिर के दर्द को रोकने में मदद करता है। इसके अलावा केले का छिलके नियमित रूप से दांतों पर रगड़ने से उनमें चमक आती है, ऐसे इसमें मौजूद पोटेशियम, मैगनीशियम और मैंगनीज द्वारा दांतों पर जमे पीलेपन को हटाने से होता है। 

शरीर के किसी अंग में दर्द होने पर दर्द वाली जगह पर केले के छिलके को पीसकर लगाने से आराम मिलता है। साथ ही किसी कीड़े के काट लेने पर जलन वाली जगह पर केले के छिलके को घिसने से जलन दूर होती है। पैरों या हाथों के मस्सों पर केले के छिलके को रगड़ने और रात भर लगा छोड़ देने से दोबारा उस जगह पर मस्सा नहीं होता है। वहीं मुंहासों पर केले के छिलके को मसलकर पांच मिनट तक लगाने से भी फायदा होता है।

केले के छिलके को त्वचा पर लगाने से त्वचा में पानी की कमी पूरी होती है। इसके सही तरह से उपयोग के लिये अंडे की जर्दी में केले के छिलके (पीसकर) मिलाकर चेहरे पर लगाएं, और फिर कुछ मिनटों बाद धो लें। इससे झुर्रियां दूर होंगी और त्वचा पर निखार आएगा। केले के छिलके में ल्यूटेन नामक एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होता है, जोकि हमारी आंखों की अल्ट्रा वायलेट किरणों से सुरक्षा करता है। इसके अलावा थकान महसूस होने पर पांच मिनट के लिए केले के छिलकों को आंखों पर रखने से बहुत आराम मिलता है।

तो हुई न आम के आम और गुठलियों के दाम वाली बात।

1 टिप्पणी:

Kailash Sharma ने कहा…

बहुत उपयोगी जानकारी...

loading...