15 सितंबर, 2015

क्या आपके सपने में भी आते हैं मरे हुए लोग

सपनों का हमारे जीवन काफी गहरा महत्व है। हर सपना कुछ-न कुछ कहता है। कुछ सपने निराशा देते हैं, तो कुछ जीवन में खुशियों की लहर भर देते हैं। जब व्यक्ति निद्रावस्था में होता है तो उसकी पाँचों ज्ञानेंद्रियाँ उसका मन और उसकी पाँचों कर्मेंद्रियाँ अपनी-अपनी क्रियाएँ करना बंद कर देती हैं और व्यक्ति का मस्तिष्क पूरी तरह शांत रहता है। उस अवस्था में व्यक्ति को एक अनुभव होता है, जो उसके जीवन से संबंधित होता है। उसी अनुभव को स्वप्न कहा जाता है|

ज्योतिष के अनुसार सपनों में भी भविष्य में होने वाली घटनाओं के राज छिपे होते हैं। इन्हें समझने पर व्यक्ति कई प्रकार की परेशानियों से बच सकता है और अधिक लाभ प्राप्त कर सकता है। आज हम आपको सपनो से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियां देंगे- 

कुछ लोगों को सपने में मृत व्यक्ति ज्यादा दिखाई देते हैं यदि आपके साथ भी ऐसा हो रहा है तो घबराएं नहीं| क्योंकि शास्त्रों के अनुसार जीवन और मृत्यु का चक्र अनवरत चलता रहता है। गीता में भगवान श्रीकृष्ण ने यही बताया है कि व्यक्ति का शरीर नश्वर होता है। आत्मा अमर होती है जो निश्चित समय के लिए अलग-अलग शरीर धारण करती है। जीवन में हमारे कई रिश्ते-नाते बनते हैं, कई लोगों से लगाव होता है। ऐसे में मृत्यु के बाद अक्सर प्रियजनों को मृत व्यक्ति की याद आती है, सपने में भी दिखाई देते हैं।

यदि किसी भी इंसान को सपने में कोई मृत व्यक्ति दिखाई देता है तो उसे ये दो काम अवश्य करना चाहिए। पहला काम है उस मृत व्यक्ति के नाम पर रामायण या श्रीमदभागवत का पाठ करना चाहिए। दूसरा काम है गरीब बच्चों को मिठाई खिलाएं। इसके साथ ही मृत व्यक्ति के नाम से विधि-विधान से तर्पण कराना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि यदि मरने वाले आत्मा अतृप्त है या उसकी कोई इच्छा अधूरी रह गई है या वह अशांत है तो संबंधित व्यक्ति के सपनों में आकर संकेत देती है। ऐसे में परिवार के सदस्यों को मृत व्यक्ति की आत्मा की शांति के लिए पुण्य कर्म, दान आदि करना चाहिए। इससे वह आत्मा तृप्त होती है और उसे शांति प्राप्त होती है।

सपने में कोई मृत व्यक्ति खुश दिखाई दे तो समझना चाहिए कि उसकी आत्मा प्रसन्न है। अत: उस व्यक्ति के नाम पर समय-समय पर तर्पण आदि कर्म किए जाने चाहिए। ऐसा माना जाता है कि यदि किसी मृत व्यक्ति की आत्मा को शांति नहीं मिली हो तो वह भटकती रहती है और उससे संबंधित लोगों को सपनों में दिखाई देती है। कभी-कभी किसी मृत व्यक्ति से अधिक लगाव होने या उसके संबंध में अत्यधिक सोचने के कारण भी वे लोग सपने में दिखाई देते हैं।

1 टिप्पणी:

Kavita Rawat ने कहा…

शायद अपनों की जब बहुत याद आती हैं तो वे सपनों में आते हैं। हम उनके बारे में भलीभांति जानते हैं की वे सुखी थे या दुखी , उसी प्रकार के सपने आते हैं मेरा ऐसा सोचना है। .

loading...
loading...