09 दिसंबर, 2013

अब अभिभावकों के जरिए परखे जाएंगे शिक्षक!

फिरोजाबाद| अब सरकारी विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों का निरीक्षण छात्रों के अभिभावकों के द्वारा होगा। बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से एक ऐसी प्रश्नावली तैयार की गई है, जो है तो शिक्षकों के बारे में जानने के लिए, लेकिन जवाब देंगे छात्रों के अभिभावक। यह खबर उन शिक्षकों को लिए खतरे की घंटी होगी जो अभी तक होने वाले कागजी निरीक्षणों में कोई न कोई पैठ लगा कर नंबर ले लेते थे। बेसिक शिक्षा विभाग ने इस सर्वेक्षण के लिए तैयारी पूरी कर ली है तथा 16 दिसंबर से यह निरीक्षण शुरू हो जाएंगे।

सूत्रों के मुताबिक 16 दिसंबर से खंड शिक्षाधिकारी सवालों की सूची लेकर स्कूल तक जाएंगे। हर माह 20 स्कूलों के निरीक्षण का लक्ष्य एबीएसए को मिला है। एबीएसए स्कूल में निरीक्षण करने के साथ अभिभावकों से भी सवाल पूछेंगे। अभिभवकों से शिक्षकों के पढ़ाने का ढंग उनके स्कूल आने के वक्त, क्लास लेते हैं या नहीं जैसे सवालों के साथ मिड-डे मील से संबंधित सवाल भी पूछे जाएंगे। इसके साथ ही नियमित रूप से खेलकूद होने की भी जांच होगी। ब्लॉक स्तर पर पीटीआई तैनात हैं तो स्कूल में अनुदेशक भी चयनित हुए हैं। ऐसे में खेलकूद के नाम पर स्कूलों से गायब रहने वाले पीटीआई भी इधर-उधर नहीं घूम पाएंगे।

बताते हैं कि एबीएसए अपनी रिपोर्ट को महीने की अंतिम तारीख को अफसरों को सौंप देंगे। इसके बाद में यह रिपोर्ट डायट को भेजी जाएगी। डायट से बीटीसी प्रथम सेमेस्टर एवं पंचम सेमेस्टर के बच्चों की टीम बना कर इसकी क्रॉस चेकिंग कराई जाएगी। यह प्रशिक्षणार्थी स्कूलों में पहुंचेंगे एवं अभिभावकों से बातचीत करेंगे। इस बारे में जिला बेसिक शिक्षाधिकारी डा.जितेंद्र सिंह यादव बताते हैं कि जांच में जो भी खामी मिलेगी, उसे सुधारने का शिक्षकों को मौका भी दिया जाएगा। एक माह का वक्त देने के बाद में फिर से जांच कराएंगे। यदि उसके बाद भी शिक्षकों में सुधार नहीं देखा गया तो कार्रवाई के कदम भी उठाए जाएंगे। 

www.pardaphash.com

कोई टिप्पणी नहीं: