17 जून, 2016

भूरी: कहानी एक अस्तित्व की


नई दिल्ली: बॉलीवुड में पिछले काफी वक्त से सिर्फ अभिषेक चौबे के निर्देशन में बनी फिल्म ‘उड़ता पंजाब’ ही छाई हुई है। सेंसर बोर्ड द्वारा फिल्म के कुछ सीन काटे जाने से लेकर बंबई हाई कोर्ट के इसे हरी झंड़ी दिखाने तक फिल्म ने काफी सुर्खियां बटोरी है। फिल्म में करीना कपूर और शाहिद कपूर के साथ काम करने को लेकर भी खूब चर्चा हुई थी। अब फिल्म 17 जून को सिनेमाघरों में रिलीज की जाएगी। लेकिन इन सबके बीच सभी इस बात को भूल चुके हैं कि इसी दिन ‘उड़ता पंजाब’ के साथ एक और फिल्म रिलीज की जा रही है। यहां हम बात कर रहे हैं फिल्म ‘भूरी’ की।

जसबीर भट्टी के निर्देशन में बनी इस फिल्म में एक महिला भूरी की कहानी को बयां किया गया है। इस फिल्म में दिखाया गया है कि भूरी एक बेहद खूबसूरत महिला है, जिसकी शादी गांव के एक सीधे-साधे किसान के साथ कर दी जाती है। शादी के बाद जब भूरी अपने पति के साथ ससुराल पहुंचती हो तो गांव के हर मर्द की नजर उस पर पड़ती है और वह उसे पाने की इच्छा में लग जाता है। पूरा गांव जैसे उसके पीछे हाथ धोकर पड़ा होता है। इसी वजह से भूरी के पति को गूंड़ों से मार भी खानी पड़ती है।

इसके बाद तो गांव के सभी आदमी भूरी के पति को परेशान करने लगते हैं, ताकि वह किसी भी तरह से भूरी को उन्हें सौंप दे। भूरी किस तरह से ऐसे ही टॉर्चर और गांव वालों की गंदी नजरों को सामना करती है वह इस फिल्म में बखूबी दिखाया गया है। फिल्म में माशा पौर, भूरी का किरदार निभाती हुई नजर आ रही हैं। माशा स्कॉटलैंड की हैं और इस फिल्म से अपने बॉलीवुड करियर की शुरुआत करने जा रही हैं। फिल्म में उनके अलावा आदित्या पंचोली, रघुवीर यादव, शक्ति कपूर, मोहन जोशी और मुकेश तिवारी जैसे सितारे मुख्य किरदार निभाते हुए नजर आ रहे हैं।

“भूरी” फिल्म के निर्माता चंद्रपाल सिंह ने बताया कि वह आजमगढ़ के रहने वाले हैं। 1997 में वह माया नगरी मुंबई चले गए थे। तब उनकी उम्र महज 17 साल थी। माया नगरी में वह कई साल तक संघर्ष करते रहे और वर्ष 2009 में उनकी पहली फिल्म ‘लकीर का फकीर’ रिलीज हुई। उन्होंने बताया कि फिल्म में भूरी का किरदार स्कॉटलैंड की रहने वाली एनआरआई माशा पौर ने निभाया है। माशा इस फिल्म में गांव की एक सुंदर महिला के किरदार में है। फिल्म की पूरी शूटिंग गोरखपुर के ग्रामीण क्षेत्रों में की गई है। चंद्रपाल सिंह ने बताया कि वह आजमगढ़ के रहने वाले हैं इस वजह से माया नगरी में रहते हुए भी उन्हें काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। जब उन्होंने शूटिंग के सिलसिले में विदेश दौरे के पहले पासपोर्ट के लिए अप्लाई किया, तो उनका पासपोर्ट आवेदन केवल इसलिए रोक दिया गया, क्योंकि वह आजमगढ़ के रहने वाले थे। वह बताते हैं कि देश और विदेशों में जिस तरह से आजमगढ़ शहर को लेकर लोगों के दिलों में गलतफहमी है, वह उसे दूर करना चाहते हैं।

कैफी आजमी, शबाना आजमी सरीखी कई बड़ी हस्तियां भी आजमगढ़ से ही हैं। ऐसे में उनके दिमाग में विचार आया कि क्यों न आजमगढ़ नाम से ही फिल्म बनाई जाये और वह इस पर एक स्टोरी लिखने का काम भी लगभग पूरा कर चुके हैं। भूरी फिल्म से उन्हें काफी उम्मीद है। उनका कहना है कि सभी अभिनेताओं ने अपने किरदार के साथ पूरा न्याय करने की कोशिश की है। रिलीज के पहले ही पूरी फिल्म कैटरीना की काफी चर्चा हो चर्चा है। यु टुब पर इसके ट्रेलर को प्रशंसकों ने काफी पसंद किया है और उससे कई हिट्स भी मिल चुके हैं । 3 मई को इस फिल्म का मुंबई में म्यूजिक लॉन्च किया गया था। लॉन्चिंग में मुख्य अतिथि के रूप में राजनेता अमर सिंह सहित बॉलीवुड की कई बड़ी हस्तियां भी पहुंची थी। देखना यह है कि 17 जून को रिलीज हो रही फिल्म “भूरी” और “उड़ता पंजाब” की टक्कर में बाजी किसके हाथ जाती है। हालांकि दोनों ही फिल्म के ट्रेलर की काफी चर्चा हो रही है।

https://www.youtube.com/watch?v=RZLPy4bwmsw

कोई टिप्पणी नहीं:

loading...