समाचार


क्या लुटी पिटी जनता मुलायम को बनायेगी प्रधानमंत्री....... ?

 

लखीमपुर-खीरी। उत्तर प्रदेश मे सपा सरकार जहां लक्ष्य 2014 के सपने देख रही है वहीं ला एण्ड आर्डर की स्थिति दिन प्रतिदिन सरकार की मंशा मे सेंध लगा रही है। सपा सरकार मे पुलिस विभाग तो बिल्कुल बेलगाम है। उसे न मुख्यमंत्री का खौफ है और न अपने विभागीय आकाओं का। जनपद खीरी की पुलिस की निष्क्रियता व लापरवाही के चलते चोर उचक्कों व लुटेरों की पौ बारह हो रही है। खीरी पुलिस की सुस्ती का फायदा उठाते हुए चोर लुटेरे आये दिन किसी न किसी को अवैध शस्त्रों की नोंक पर लूटकर पुलिस को खुली चुनौती दे रहे हैं और जनपद खीरी की पुलिस कुम्भकर्णी नींद सोने मे मस्त है। अभी चन्द दिनों पहले ही आईजी लखनऊ जोन सुभाष चन्द्र ने जनपद मुख्यालय आकर अधीनस्थों के पेंच कसे थे और यह भी कहा था कि पीडि़तों की एफआईआर भी बगैर किसी देरी के लिखी जाये और खीरी पुलिस अपनी कार्यशैली सुधार ले। इसके बावजूद भी खीरी पुलिस की स्थिति चिकने घड़े जैसी साबित हुयी और जनपद पुलिस पर अपने आका का आदेश भी बेनतीजा ही साबित हुआ। सूबे मे सपा की सरकार बनने के बाद पुलिस की सुस्त कार्यशैली के चलते जनपद मे लुटेरे आये दिन किसी न किसी को अपना शिकार बना रहे हैं और खीरी पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी है। बीते चौबीस घण्टों मे लुटेरों ने जनपद मे तीसरी घटना को अंजाम देकर पुलिस को ललकारा है। आज दिनदहाड़े जनपद के थाना गोला गोकर्णनाथ क्षेत्र के अंतर्गत बैंक मे रुपये जमा करने जा रहे एक पेट्रोल पम्प के कर्मचारी से दो बाइक सवार बदमाशों ने शस्त्रों के बल पर लाखों की नकदी लूट ली। 

प्राप्त जानकारी के अनुसार थाना गोला गोकर्णनाथ क्षेत्र के अंतर्गत गोला-खुटार मार्ग पर करीब तीन किलोमीटर की दूरी पर स्थित माहेश्वरी पेट्रोल पम्प का एक कर्मचारी अशोक यादव आज पम्प से छः लाख पच्चासी हजार रूपये लेकर गोला की एक बैंक मे जमा करने आ रहा था। तभी वहां पहले से घात लगाये बैठे दो बाइक सवार बदमाशों ने उस कर्मचारी को पेट्रोल पम्प से चन्द कदमों की दूरी पर ही रोक लिया और उस पर अवैध तमंचा तानकर रुपयों से भरा बैग लूट लिया और भाग गये। पीडि़त कर्मचारी ने तत्काल घटना की सूचना पुलिस व पेट्रोल पम्प के मालिक को दी। घटना की जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस कई घंटों तक तो सीमा विवाद में ही उलझी रही। जिससे बदमाशों को भागने का पर्याप्त मौका मिल गया। थाना कोतवाली गोला व थाना हैदराबाद के पुलिस अधिकारी सीमा विवाद मे उलझे रहे कि मामला है किस थाने का। इन्स्पेक्टर कोतवाली गोला से फोन पर जानकारी लेने पर उन्होने कहा कि यह घटना थाना हैदराबाद क्षेत्र के अंतर्गत आती है, इस पर जब थानाध्यक्ष हैदराबाद से फोन पर जानकारी लेने का प्रयास किया गया तो पूरी पूरी घण्टी जाने के बावजूद भी उन्होने अपना सीयूजी फोन नहीं उठाया। 

इस घटना के सम्बन्ध मे जानकारी लेने पर अपर पुलिस अधीक्षक बालेन्दु भूषण सिंह ने बताया कि पीडि़त कर्मचारी की तहरीर पर गोला कोतवाली में दो अज्ञात बाइक सवार लुटेरों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया गया है, और जल्द ही लुटेरे गिरफ्तार कर लिए जायेंगे, दोषियों को किसी भी हालत मे बख्शा नही जायेगा। इसी तरह आज ही जनपद के थाना ईसानगर क्षेत्र के अंतर्गत चीनी मिल से मजदूरी करके वापस जा रहे पिता पुत्र को बदमाशों ने शस्त्रों की नोंक पर बंधक बनाकर लूट लिया। लूट का विरोध किये जाने पर बदमाशों ने पिता पुत्र दोनों की जमकर पिटाई कर दी। पीडि़तों ने मामले की रिपोर्ट दर्ज किये जाने हेतु पुलिस को तहरीर दी लेकिन पुलिस ने उनकी रिपोर्ट दर्ज नहीं की। प्राप्त जानकारी के मुताबिक थाना ईसानगर क्षेत्र के अंतर्गत परसिया निवासी छोटे लाल और उनका बेटा मंजीत ऐरा चीनी मिल में मजदूरी करते हैं। बीती शाम दोनों लोग साइकिलों से घर वापस जा रहे थे। इसी बीच गांव के पश्चिम एक बाग के पास करीब आधा दर्जन सशस्त्र बदमाशों ने उनकी साइकिलें और नकदी लूट ली। पिता पुत्र ने जब लूट का विरोध किया तो बदमाशों ने दोनों की जमकर पिटाई कर दी। पीडि़तों ने घटना की सूचना पुलिस को दे दी है लेकिन पुलिस ने तहरीर लेकर बगैर रिपोर्ट दर्ज किए दोनों पीडि़तों को टरका कर वहां से भगा दिया। ऐसे ही बीते दिवस जनपद के थाना क्षेत्र धौरहरा के अंतर्गत पिपरमिंट का तेल खरीदकर वापस लौट रहे एक व्यक्ति से मोटरसाइकिल सवार करीब आधा दर्जन सशस्त्र बदमाशों ने सैतालीस हजार की नकदी छीन ली। 

मिली जानकारी के अनुसार जनपद बहराइच के थाना सुजौली के अंतर्गत ग्राम बड़खइहा मे रहने वाला उमेश निगम अपने गांव के ही साथी दीपक के साथ धौरहरा क्षेत्र के अंतर्गत पढुवा गांव मे पिपरमिंट का तेल खरीदने आया था। पिपरमिंट का तेल खरीदने के बाद जब वह दोनो लोग वापस अपने घर जा रहे थे, इसी बीच क्षेत्र के परमेश्वरीपुरवा (लखनपुरवा माइनर) के पास सामने से दो मोटरसाइकिलो पर सवार होकर आये करीब आधा दर्जन सशस्त्र बदमाशों ने उमेश को घेरकर उनके पास मौजूद लगभग सैतालीस हजार की नकदी छीन ली। उमेश ने जब बदमाशों का विरोध किया तो बदमाशों ने उसे चाकू मारकर घायल कर दिया, साथ ही उसके साथी को भी मारपीटकर मौके से फरार हो गये। पीडि़त ने थाना धौरहरा की कफारा पुलिस चैकी मे घटना की तहरीर दे दी है लेकिन खबर लिखे जाने तक पुलिस ने घटना की रिपोर्ट दर्ज नही की थी। लूट व चोरी आदि की घटनाओं के बाद जब पीडि़त सम्बन्धित चैकी या थाने मे रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंचता है तो पुलिस द्वारा उसे टरका दिया जाता है।

एक तरफ जहां उत्तर प्रदेश की सपा सरकार के मुखिया अखिलेश यादव कानून व्यस्था को चुस्त दुरुस्त बनाये रखने की बात करते हैं वहीं दूसरी तरफ यूपी पुलिस और खासकर जनपद खीरी की पुलिस अपनी लचर कार्यप्रणाली के चलते मुख्यमंत्री की मंशा और अपने विभागीय आका के आदेशो की जमकर धज्जियां उड़ा रही है। आखिर सपा सरकार मे पीडि़त जायें तो जायें कहां ? क्या बिगड़ते ला एण्ड आर्डर की स्थिति मुलायम सिंह यादव को प्रधानमंत्री बनने देगी या नहीं, यह अभी भविष्य के गर्भ मे है।

 

 

 

कोई टिप्पणी नहीं:

loading...